Homeवर्ष/दिवस/सप्ताह

Commonwealth day राष्ट्रमंडल दिवस 24 मई 

Like Tweet Pin it Share Share Email

राष्ट्रमंडल दिवस 24 मई 

-लोकतंत्र लैंगिक समानता अंतरराष्ट्रीय शांति और सुरक्षा के लिए संगठित है राष्ट्रमंडल 

-अल्बर्ट आइंस्टीन ने कहा है कि शांति बलपूर्वक बनाई नहीं रखी जा सकती यह तो केवल सहमति से ही प्राप्त की जा सकती है इसलिए वे राष्ट्र जिनका एक दूसरे के साथ कड़वा इतिहास रहा हो उसे भुलाने के लिए और सद्भाव को बनाए रखने के लिए संगठित होना जरूरी है इसलिए राष्ट्रमंडल यानी वे देश जो कभी ब्रिटिश सत्ता के अधीन थे उनका संगठित रहना कहीं ना कहीं विश्व शांति के लिए महत्वपूर्ण है क्योंकि दुनिया की दो-तिहाई आबादी इन्हीं देशों में रहती है राष्ट्र मंडल के सभी 53 सदस्यों ने लोकतंत्र लैंगिक समानता अंतरराष्ट्रीय शांति और सुरक्षा के लिए एक समझौते पर हस्ताक्षर किए हैं राष्ट्रमंडल दिवस प्रतिवर्ष 24 मई को मनाया जाता है इस दिन को मनाने के पीछे कारण इंसानियत और मानवता को बढ़ावा देना है राष्ट्रमंडल दिवस के दिन सभी सदस्य एक साथ मिलजुल कर रहने और हर समस्या को शांति से मिलकर हल करने का रास्ता निकालते हैं राष्ट्रमंडल एक ऐसे देशों का समूह है जो कभी अंग्रेजी हुकूमत के अधीन रहे थे धीरे-धीरे सभी देश आजादी की ओर बढ़ रहे थे इन देशों को एकत्रित रखने के उद्देश्य से ही राष्ट्रमंडल दिवस मनाने की घोषणा की गई थी क्योंकि एकता ही इस संसार में शांति कायम रख सकती है दुनिया के लगभग दो तिहाई लोग और 53 देश इस संगठन के सदस्य हैं हालांकि 2009 में राष्ट्रमंडल के सदस्य बने मोजांबिक और रवांडा ऐसे देश है जो कभी ब्रितानी साम्राज्य की कॉलोनी नहीं थी 2016 में मालदीव इस संगठन से अलग हुआ था। Commonwealth day full information in hindi

– राष्ट्रमंडल दिवस का इतिहास

1901 में महारानी विक्टोरिया ने पहली बार अपने जन्मदिन पर इस तरह की संगठन के बारे में सोचा था फिर इनकी मृत्यु के 1 साल बाद सर्वप्रथम एंपायर डे 1902 में आयोजित किया गया था इसका आधुनिक ढांचा 1949 में कई देशों की ब्रितानी गुलामी से आजादी के बाद राजनीतिक स्वतंत्रता प्राप्ति हेतु आंदोलन का तीव्र  प्रसार हुआ जिसके परिणाम स्वरूप अफ्रीका एशिया और पश्चिमी गोलार्ध की अनेक देश ब्रिटिश अधिकार क्षेत्र से बाहर हो गया भारत महाद्वीप के देश सबसे पहले स्वतंत्रता प्राप्त करने वाले और राष्ट्रमंडल में शामिल होने वाले देशों में थे भारत और पाकिस्तान 1947 में राष्ट्रमंडल के सदस्य बने जबकि श्रीलंका 1948 में एक महत्वपूर्ण तथ्य यह है कि राष्ट्रमंडल के मूल सदस्यों के विपरीत नए सदस्य देशो की जनसंख्या मुख्य रूप से गैर यूरोपीय थी अनेक नए सदस्यों ने गणतंत्र सरंचना की भी इच्छा व्यक्त की तथा ब्रिटिश राजमुकुट के प्रति अपनी निष्ठा को समाप्त घोषित कर दिया इससे राष्ट्रमंडल को नए ढंग से परिभाषित करना आवश्यक हो गया 1949 में एक नई पद्धति की शुरुआत हुई जब भारत को स्वयं को गणतंत्र घोषित करने तथा साथ ही राष्ट्रमंडल का पूर्ण सदस्य बने रहते की अनुमति दी गई। Commonwealth day full information in hindi



– राष्ट्रमंडल के सदस्य देश

– अफ्रीकी देश बोत्सवाना कैमरून घाना कीनिया लेसोथो मलावी मॉरीशस मोजांबिक नामीबिया नाइजीरिया रवांडा सेसल्स सिएरा लियोन दक्षिण अफ्रीका स्वाजीलैंड तंजानिया गांबिया युगांडा और जांबिया।

– अमेरिकी देश बेलिज बरमुंडा कनाडा फ़ॉकलैंड द्वीप समूह गुयाना और सेंट हेलेना ।

-एशियाई देश बांग्लादेश भारत ब्रुनेई दारुसलम मलेशिया मालदीव पाकिस्तान सिंगापुर श्रीलंका।

– कैरेबियाई देश एगुइला एंटीगुआ और बरमूडा बहमास बारबाडोस ब्रितानी वर्जिन द्वीपसमूह केमैन द्वीप डोमिनिका ग्रेनेडा जमैका सेंट किट्स एंड नेविस सेंट लूसिया सेंटब विन्सेट त्रिनिदाद एंड टोबैगो और तुर्क्स एंड केकास।

– यूरोपीय देश साइप्रस इंग्लैंड जिब्राल्टर आइल आफ मेन जर्सी माल्टा उत्तरी आयरलैंड स्कॉटलैंड और वेल्स ।

-ओशिनियाई देश ऑस्ट्रेलिया कुक द्वीपसमूह किरीबाती नोरू न्यूजीलैंड न्यू नोरफोक आईलैंड पापुआ न्यू गिनी समोआ सोलोमन द्वीपसमूह टोंगा टुबालु और वेनुआतु। Commonwealth day full information in hindi

राष्ट्रमंडल दिवस पर विभिन्न तरह की प्रतियोगिताएं आयोजित की जाती है विश्व के कई देशों की तुलना में भारत इस दिवस में काफी दिलचस्पी रखता है भारत को राष्ट्रमंडल देशों का महत्वपूर्ण सदस्य माना जाता है इसकी वजह यह है कि कॉमनवेल्थ देशों की कुल आबादी के आधी आबादी भारत की है राष्ट्रमंडल दिवस को मनाया जाने के पीछे अलग-अलग देशों के पूर्वजों के योगदान को याद करना भी है जो कि उन्होंने आजादी की लड़ाई में दिया था राष्ट्रमण्डल दिवस के दिन गुलामी की अति प्राचीन प्रथा की भी कड़े शब्दों में निंदा की जाती थी साथ ही उसका विरोध भी किया जाता है । Commonwealth day full information in hindi

-राष्ट्रमंडल दिवस से जुड़ी कुछ रोचक बातें

राष्ट्रमंडल दिवस का उद्देश्य एकता को स्थापित करना और मानवता को बढ़ावा देना है इसका अंदाजा इस बात से लगाया जा सकता है कि इन देशों के बीच व्यापार का प्रतिशत गैर राष्ट्रमंडल देशों की तुलना में 19% अधिक है 

-राष्ट्रमंडल देशों की एक खास बात यह है कि इन देशों की अधिकतम संख्या युवा है जिसके अंतर्गत 15 से 29 वर्ष की युवा आते हैं ।

यह दिन उन देशों के बीच मनाया जाता है जो राष्ट्रमंडल देशों की सूची में शामिल होने के लिए निर्धारित सभी शर्तों को मान कर समझौते पत्र पर हस्ताक्षर करते हैं इस दिन का आयोजन रानी के द्वारा दिए गए भाषण से किया जाएगा और इस भाषण को आप इंटरनेट या टीवी के माध्यम से दुनिया के किसी भी कोने में सुन सकते हैं इस दिन सभी के द्वारा मानवता और सरकार चलाने वाले नए विचारों को अपनाया जाता है और विचार समाज के लिए लाभदायक है आप चाहे तो इसमें अपने विचार भी दे सकते हैं या फिर किसी संगठन ग्रुप से जुड़कर राष्ट्रमंडल प्रयासों में अपना योगदान दे सकते हैं इस वर्ष इस दिवस की 70 वीं वर्षगांठ मनाई गई ।

Commonwealth day full information in hindi

-70वें साल की थीम अ कनेक्टेड कॉमनवेल्थ कॉमनवेल्थ डे यानी राष्ट्रमंडल दिवस को हर वर्ष एक विशेष थीम पर आयोजित किया जाता है इसका निर्धारण राष्ट्रमंडल के सदस्य देशों द्वारा संचालित कॉमनवेल्थ सिविल सोसायटी और कॉमनवेल्थ की प्रमुख ब्रिटेन की रानी करती है इसकी 2019 की थीम अ कनेक्टेड कामनवेल्थ राष्ट्रमंडल का संगठित रहना है राष्ट्रमंडल के आधुनिक स्वरूप को इस वर्ष 70 साल पूरे हो गए हैं ऐसे में विश्व में शांति और बंधुत्व के लिए लोगों का एक दूसरे से जुड़ सहयोग करके विकास करना आवश्यक है एक दूसरे की सांस्कृतिक विविधता को सम्मान करते हुए मिलकर आगे बढ़ना ही राष्ट्रमंडल संगठन का उद्देश्य है इसलिए सरकार और संस्थान संसद और विश्वविद्यालय भी एक दूसरे से जुड़े रहते हैं प्रकृति पर्यावरण के संरक्षण के लिए सभी को मिलकर कार्य करना होगा महिलाओं युवाओं और वंचित समुदाय को सशक्त बनाने के लिए सदस्य देशों को मिलकर कार्य करना होगा खेल लोगों को जोड़ने और स्वस्थ प्रतियोगिता के लिए प्रोत्साहित करते हैं इसलिए कॉमनवेल्थ गेम्स के माध्यम से भी इन देशों को जोड़ा जाता है । Commonwealth day full information in hindi

-1998 में राष्ट्रमंडल में 33 गणतंत्र और 21 राजतंत्र शामिल थे जिसमें 16 ब्रिटिश सम्राज्ञी के क्षेत्र में आते हैं अर्थात उन्होंने ब्रिटिश सम्राज्ञी को अपने देश का नाम मात्र का प्रधान घोषित किया है पांच सदस्य राजतंत्रात्मक शासन व्यवस्था वाले हैं इसके अतिरिक्त राष्ट्रमंडल में यूनाइटेड किंग्डम के 13 समुद्र पार क्षेत्र 6 ऑस्ट्रेलियाई बाह्र क्षेत्र दो न्यूजीलैंड आश्रित क्षेत्र शामिल है। Commonwealth day full information in hindi


Related Post :-

बौद्धिक संपदा अधिकार दिवस (world intellectual property day) 26 अप्रैल

विश्व रंगमंच दिवस 27 मार्च

संकट में भारतीय कृषि और कृषक

Comments (0)