HomeIAS Interview

MPPSC Topper’s Interview & Strategy Rachna Sharma

Like Tweet Pin it Share Share Email

मध्य प्रदेश राज्य सेवा परीक्षा में द्वितीय स्थान प्राप्त करने वाली होशंगाबाद की रचना शर्मा का साक्षात्कार

– छोटे छोटे लक्ष्य बनाते हुए बड़ा मुकाम हासिल करें लहरों से डरकर नौका पार नहीं होती कोशिश करने वालों की हार नहीं होती ।यह पंक्तियां रचना शर्मा को निरंतर आगे बढ़ने और अपना लक्ष्य हासिल करने के लिए प्रेरित करती रही है ग्रामीण परिवेश सरकारी स्कूल से हिंदी माध्यम में पढ़ाई और आर्थिक परिस्थिति का बहुत बेहतर न होना भी रचना के सिविल सर्विस के सपने को तोड़ नहीं पाया कैसे उन्होंने इस परीक्षा में प्रथम प्रयास में ना केवल सफलता अर्जित की बल्कि अनारक्षित वर्ग तथा लड़कियों मैं प्रदेश भर में अव्वल स्थान हासिल किया। यह उन्होंने रोजगार और निर्माण से बातचीत में साझा किया । MPPSC Topper’s Interview & Strategy Rachna Sharma

-प्रश्न अपने अब तक के जीवन के सफर के बारे में बताइए 

-उत्तर मेरी अधिकाश स्कूली शिक्षा हिंदी माध्यम में मुरैना और होशंगाबाद जिले के छोटे से गांव में सरकारी स्कूल में हुई है आसपास के लोगों ने जब पिता से कहा कि आप आपकी बेटी होनहार है उसे अच्छी शिक्षा दिलाई जाए। तब हम होशंगाबाद जिले की ग्राम रायपुर से होशंगाबाद में किराए के मकान में रहने लगे घर के सामने एसपी का बंगला था तत्कालीन एसपी दीपिका सूरी को आते जाते देखती थी तभी से सिविल सर्विस में जाने की इच्छा थी सिविल सर्विस परीक्षा की तैयारी अनिश्चितता से भरी है इसलिए 12वीं के बाद इंजीनियरिंग करना तय किया था कि कैरियर में विकल्प बना रहे ।राजीव गांधी विश्वविद्यालय के यूटीडी केंपस से मैने बीई किया। यहां मेरा प्लेसमेंट टीसीएस में हो गया लेकिन मैं सिविल सर्विस में ही जाना चाहती थी ।

-प्रश्न-परीक्षा अध्ययन प्रणाली कैसी है 

-उत्तर परीक्षा अध्ययन प्रणाली अच्छी है क्योंकि इसमें से वैकल्पिक विषय को हटा लिया गया है इससे किसी विशेष विषय के बच्चों को एडवांटेज मिलना बंद हो गया है ।इससे सभी बच्चों के लिए यह पैटर्न समान हो गया है ।

-प्रश्न इन विषयों की पढ़ाई के लिए कौन-कौन से किताबों से अध्ययन किया 

-उत्तर परीक्षा की तैयारी के लिए मैंने इतिहास विषय के लिए स्पेक्ट्रम और विपिन चंद्रा के आधुनिक भारत का इतिहास एनसीईआरटी की पुरानी किताबें सतीश चंद्र मध्य इतिहास आर एस शर्मा प्राचीन इतिहास को पढ़ा। सिविल सर्विस परीक्षा की तैयारी के दौरान भूगोल मेरा वैकल्पिक विषय था इसके लिए मैंने महेश वर्णवाल माजिद हुसैन का अध्ययन किया । राजनीति के लिए एम लक्ष्मीकांत और एनसीईआरटी विज्ञान और तकनीकी के लिए एनसीईआरटी को बढ़ा। MPPSC Topper’s Interview & Strategy Rachna Sharma

प्रश्न- परीक्षा की तैयारी के लिए आपका स्टडी मैटेरियल कौन सा था उसे आपने कहां से चुना

उतर-परीक्षा की तैयारी के लिए बुक के अलावा कोचिंग का स्टडी मटेरियल मेने प्रयोग  किया। स्टैंडर्ड एक्ट के लिए भी कोचिंग के स्टडी मैटेरियल का अध्ययन किया ओनली आईएएस स्टडी आइक्यू जैसे यूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब कर उनका अध्ययन किया ।रोजगार और निर्माण तथा दैनिक समाचार पत्रों का अध्ययन किया इसके अलावा पुराने प्रश्न पत्रों का अध्ययन नोट्स और कुछ टॉपिक जैसे समाजिक मुद्दे और अर्थशास्त्र के लिए इंटरनेट का सहयोग लिया । 

-प्रश्न-आपकी पारिवारिक पृष्ठभूमि कैसी है

उत्तर -में एक सामान्य ग्रामीण मध्यवर्गीय परिवार से हूं मैं मूलतः मुरैना जिले के मुरैना ग्राम से हूं मेरे पिता सीताराम जी शर्मा स्कूल शिक्षक हैं और वर्तमान में होशंगाबाद में पदस्थ है इसलिए हम होशंगाबाद में ही रहते हैं मेरी मां मंजू शर्मा हाउसवाइफ है मेरा एक छोटा भाई अनुराग है जिसने हाल ही में इंजीनियरिंग पूरी की है ।

-प्रश्न इस परीक्षा के लिए मोटिवेशन आपको कहां से मिला , सहयोग कहां से प्राप्त हुआ

– उत्तर इस परीक्षा के लिए मुझे सबसे पहले प्रेरणा तत्कालीन एसपी सूरी से मिली धीरे-धीरे मन में सिविल सर्विस में जाने का सपना पलने लगा ।व्यक्ति के लिए सबसे बड़ा मोटिवेशन उसका परिवार होता है और मेरे लिए भी मेरे माता-पिता हमेशा प्रेरणा स्त्रोत रहे पापा ने हमेशा मेरी शादी से ज्यादा महत्त्व मेरी शिक्षा और मेरे सपने को दिया इसलिए टीसीएस में जॉब लगने के बाद मैंने पापा से सिविल सर्विस की तैयारी के लिए कहा तो उन्होंने मेरा साथ दिया ।2 साल तक यूपीएससी की तैयारी के दौरान मेरा मेन्स क्लियर नहीं हुआ तो इस बार मैंने एमपीपीएससी की तैयारी के बारे में सोचा और तैयारी की और मेरा चयन हो गया। इतने बड़े सफर में माता पिता ने हमेशा मुझे मोटिवेट किया 

-प्रश्न परीक्षा की रणनीति कैसे तैयार की

– उत्तर मैंने प्रारंभिक परीक्षा और मुख्य परीक्षाओं के लिए साथ में अध्ययन किया। डिटेल में पढा ताकि कांसेप्ट क्लियर हो सके हिस्ट्री के फैक्ट को बार-बार पढ़ा।परीक्षा के 2 महीने पहले सिर्फ प्रीलियम्स को फोकस करके पढ़ना शुरू किया पुराने प्रश्न पत्र को अच्छे से हल किया। एमपीपीएससी में स्पोर्ट्स करंट अफेयर्स के बारे में पढ़ना आवश्यक है इस परीक्षा में डायरेक्ट क्वेश्चन आते हैं तो उनको पढ़कर ही अपनी रणनीति बनाकर तैयारी की ताकि कोर एरिया की पढ़ाई मजबूत हो सके एमपी सामान्य ज्ञान को अच्छे से पढ़ा और समाचार पत्रों को नियमित पढ़ा।

प्रश्न-परीक्षा के लिए चुने गए विषय में से आप किस विषय को कितना समय देती थी 

-उत्तर मैंने नियमित 8 घंटे पढ़ाई की है मैं भोपाल में एक लाइब्रेरी में बैठ कर पढ़ाई करती थी किस विषय को कितना समय दिया यह तो नहीं कह सकती क्योंकि मैंने टॉपिक्स देखें पुराने प्रश्न पत्र में देखा कि उस टॉपिक से कितने सवाल पूछे गए हैं उसके आधार पर समय निर्धारित किया हर दिन अलग-अलग टाइम टेबल बनाकर पढ़ा हर सप्ताह रिवीजन अवश्य किया । MPPSC Topper’s Interview & Strategy Rachna Sharma

-प्रश्न आपने किस विषय को सबसे अधिक समय दिया

– उत्तर अधिकांश विषय को समान समय दिया पेपर क्वालिटी के सेकंड पार्ट को सबसे अधिक समय दिया क्योंकि इसका कोई डायरेक्ट मेटेरियल उपलब्ध नहीं था इसमें सोसायटी सामाजिक मुद्दे 10 एक्ट पॉलिसी हेल्थ और गवर्नेंस संबंधित मुद्दे शामिल थे। इतिहास और भूगोल जैसे विषय सिविल सर्विस की तैयारी के समय से क्लियर थे इसलिए अधिक नही समय देना पड़ा। MPPSC Topper’s Interview & Strategy Rachna Sharma

प्रश्न- अक्सर भूल जाने वाले तथ्य जानकारी या भ्रम पैदा करने वाली जानकारी को कैसे याद रखें

– उत्तर जो तथ्य अक्सर भूल जाते हैं उन्हें याद रखने के लिए लिखें पेपर कमरे की दीवार पर चिपका ले ताकि उन्हें बार-बार याद रहे।कुछ ट्रिक्स वर्ष को याद रखने के लिए प्रयोग की।

– प्रश्न वस्तुनिष्ठ प्रश्न और विचारात्मक प्रश्नों को हल करते समय क्या रणनीति अपनाई 

-उत्तर वस्तुनिष्ठ प्रश्नों को हल करने के लिए एलिमिनेशन मेथड यानी पता है कि यह तीन विकल्प नहीं है उसके आधार पर अन्य 3 को अलग किया विचारात्मक प्रश्नों को हल करने के लिए पढ़ना ही पड़ता है क्योंकि समय की सीमा होती है और कम शब्दों में अच्छा लिखने के लिए सही प्रैक्टिस जरूरी है ।

-प्रश्न साक्षात्कार के दौरान आप से क्या क्या सवाल पूछे गए आपने इनकी क्या-क्या जवाब दिए

– उत्तर मेरा इंटरव्यू लगभग 25 मिनट तक चौबे सर के बोर्ड में चला मैंने इंजीनियरिंग इलेक्ट्रॉनिक और कम्युनिकेशन में किया है तो लगभग 8 से 10 सवाल इस से संबंधित पूछे गए इसके अलावा मेरे गृह जिले पारिवारिक पृष्ठभूमि भौगोलिक पृष्ठभूमि महिलाओं से संबंधित कानून रेंजर में चयन होने के कारण वन और पर्यावरण से संबंधित सवाल पूछे गए थे । MPPSC Topper’s Interview & Strategy Rachna Sharma

-प्रश्न इंटरव्यू की तैयारी कैसे की इसके लिए क्या योजना बनाई विस्तार से बताइए

उतर- इंटरव्यू के लिए समाचार पत्र से करंट अफेयर्स की। गृह जिले की तैयारी की साथ कोचिंग से गाइडेंस लिया मॉक इंटरव्यू की प्रैक्टिस की बोलने की प्रैक्टिस की ताकि बेझिझक अपने बारे में बता सकूं ।

-प्रश्न अगर वर्तमान पद पर कोई नौकरी कर रही थी तो उसे छोड़कर इस पड़ पर क्यों आई

उत्तर इससे पूर्व मेरा चयन टीसीएस और फॉरेस्ट रेंजर के पद पर हो चुका है उसे छोड़कर सिविल सर्विस को इसलिए चुना क्योंकि शुरू से ही मेरा लक्ष्य ही था उन दोनों ही जगह पर कार्य क्षेत्र सीमित था लोक सेवा के माध्यम से आम लोगों से सीधे जुड़ कर कार्य करने का अवसर है रेंजर के पद पर रहते हुए सिर्फ अन्य क्षेत्र में कार्य कर सकती थी।

– प्रश्न  अभ्यर्थियों  को आप क्या संदेश देना चाहेंगे

– उत्तर युवाओं को सही संदेश देना चाहूंगी कि सबसे पहले अपना एक लक्ष्य बनाइए इसके बाद आपकी प्राथमिकता सिर्फ लक्ष्य प्राप्ति होनी चाहिए उस लक्ष्य के प्रति दृढ़ निश्चय ही हो कर ईमानदारी से मेहनत करना चाहिए अपने छोटे छोटे लक्ष्य बनाओ कि आज मुझे यह तो खत्म करना है हर दिन का एक टाइम टेबल हो अनुशासित होकर लक्ष्य के प्रति समर्पित रहिए सफलता का कोई शॉर्टकट नहीं होता इसलिए  ईमानदारी से कड़ी मेहनत करेंगे तो आप जरूर सफल होंगें। संसाधनों का अभाव हिंदी माध्यम सरकारी स्कूल लक्ष्य प्राप्ति में कोई बाधा नहीं बनती है यदि दिल में सपने को पूरा करने की इच्छा शक्ति हो। MPPSC Topper’s Interview & Strategy Rachna Sharma

-प्रश्न जिस पद के लिए आपका चयन हुआ है उस पद की जिम्मेदारी निभाने के लिए आपके क्या विचार हैं इस पद को लेकर आपका क्या दृष्टिकोण है

-उत्तर इस पद को निभाने के लिए मेरी प्राथमिकता होगी कि शासन के द्वारा संचालित जन हितेषी योजनाओं का बेहतर ढंग से क्रियान्वयन किया जा सके आप लोग बिना किसी डर से प्रशासनिक अधिकारियों से संपर्क कर सके ऐसा माहौल बनाने का प्रयास करूंगी।

: नाम– रचना शर्मा 

पद -डिप्टी कलेक्टर 

पिता -श्री सीताराम शर्मा 

माता -श्रीमती मंजू शर्मा 

उम्र 23 साल 8 महीने 

-पता होशंगाबाद 

-आभार माता पिता समस्त परिवार शिक्षक और समस्त वे लोग जिन्होंने मेरे इस सफर में प्रेरित किया और मुझे हमेशा प्रोत्साहित किया और मेरा सहयोग किया 

-सबल पक्ष अनुशासित दृढ़ निश्चय और आत्मप्रेरित

– शिक्षा प्राथमिक शिक्षा कैलारस मुरैना 9 वी तक गवर्नमेंट स्कूल ग्राम -रायपुर होशंगाबाद 

हाई स्कूल – सेठ गुरु प्रसाद हायर सेकेंडरी स्कूल होशंगाबाद

– हाई सेकेंडरी पंडित रामलाल शर्मा स्कूल होशंगाबाद 

-बीई– RGPV भोपाल

– पूर्व चयन– मध्य प्रदेश फॉरेस्ट रेंजर 

-रुचि रीडिंग बायोग्राफी ,शतरंज खेलना, मोटिवेशन वीडियो देखना

अन्य उपलब्धियां उच्च माध्यमिक परीक्षा प्रदेश सूची में सातवां स्थान ।

चांसलर स्कॉलरशिप 

दो बार राज्य स्तरीय शतरंज प्रतियोगिता 

-इंटरव्यू में पूछे गए सवाल 

-सवाल 1 फॉरेस्ट रेंजर बन गई हो  यहां क्यों आना चाहती हो 

-उत्तर सर मैंने प्रारंभ से ही लोक सेवा का लक्ष्य बनाया था फॉरेस्ट में सीमित कार्यक्षेत्र है तथा लोक सेवा में सीधे लोगों से जुड़कर व्यापक उत्तरदायित्व और अधिकारिता के साथ व्यापक कार्य क्षेत्र में कार्य करने का अवसर प्राप्त होगा। इसलिए यहां आना चाहती हु। MPPSC Topper’s Interview & Strategy Rachna Sharma

– सवाल 2 अपने क्षेत्र के आसपास के संरक्षित वन क्षेत्र बताइए 

-उत्तर मुरैना राष्ट्रीय चंबल अभयारण्य कूनो पालनपुर अभयारण्य शिवपुरी माधव राष्ट्रीय उद्यान शिवपुरी होशंगाबाद सतपुड़ा टाइगर रिजर्व बोरी अभ्यारण पचमढ़ी बायोस्फीयर रिजर्व ।

-सवाल 3 कूनो पालनपुर से संबंधित कोई समाचार बताइए

जवाब- यह पहले अभयारण्य था। अब राष्ट्रीय पार्क बनाने के लिए संशोधन किया गया है क्योंकि यहां गिर राष्ट्रीय उद्यान गुजरात से एशियाई शेरों का स्थानांतरण किया जा रहा है ताकि बेहतर सरंक्षण किया जा सके ।

सवाल-4 आप की हॉबी बायोग्राफी पढ़ना है तो किस की पढ़ी है

– मैंने महात्मा गांधी स्वामी विवेकानंद मदर टैरेसा डॉक्टर एपीजे अब्दुल कलाम हिटलर सुभाष चंद्र बोस सरदार वल्लभभाई पटेल रानी अहिल्याबाई डॉक्टर बी आर अंबेडकर के सभी भारतीय प्रधनमंत्रियो की जीवनी पढ़ी है।

सवाल-5 ग्वालियर किले के बारे में बताइए 

-जवाब राजा सूर्य सेन द्वारा आठवीं सदी में इसे बनाया गया इसमें मानसिंह का किला गुजरी महल सास बहू का मंदिर तेली का मंदिर और गुरु द्वारा निर्मित है इसे पूर्व का जिब्राल्टर और किलो का मंदिर भी कहते हैं ।

सवाल-6 वाईफाई और ब्लूटूथ की रेंज बताइए 

-उत्तर वाई फाई की रेंज 100 मीटर और ब्लूटूथ की रेंज 10 मीटर होती है ।

सवाल-7 धारा 498a के बारे में सुना है क्या इसका दुरुपयोग हो रहा है 

-उत्तर यह दहेज उत्पीड़न से संबंधित दंड का प्रावधान करता है सर इसके दुरुपयोग के मामले में सुनने में आते हैं  किंतु दुरुपयोग के उदाहरण बहुत ही कम है सर मैं मानती हूं कि देश की आधी आबादी महिलाओं के मौलिक अधिकारों राइट टू लाइफ आर्टिकल 21 और महिलाओं की गरिमा और सुरक्षा की दृष्टि से अत्यंत महत्वपूर्ण है।

Related Post :-

मुख्यमंत्री युवा स्वाभिमान योजना

मध्य प्रदेश राज्य सेवा परीक्षा में अव्वल आए मंडला के हर्षल चौधरी का साक्षात्कार

MPPSC में अच्छे मार्क्स के लिए बनाएं खास रणनीति

MPPSC साक्षात्कार में सफलता उपाय और योजना

कैसे बचे नेगेटिव मार्किंग से

Comments (0)