HomeUPPSC

UP PCS परीक्षा: तैयारी की सम्पूर्ण जानकारी

Like Tweet Pin it Share Share Email

-उत्तर प्रदेश UP PSC परीक्षा की तैयारी की सम्पूर्ण जानकारी 

– मुख्य परीक्षा को क्रैक करने की रणनीति उत्तर प्रदेश संघ लोक सेवा आयोग यूपीपीएससी के द्वारा आयोजित सम्मिलित राज्य प्रवर अधीनस्थ सेवा परीक्षा त्रिस्तरीय होती है इस परीक्षा की तैयारी की इस श्रृंखला  में हम आपको बताएंगे कि इस परीक्षा की मुख्य परीक्षा और साक्षात्कार परीक्षा की तैयारी किस प्रकार करनी है अपने निर्माण काल से लेकर आज तक एकमात्र सिविल सेवा परीक्षा ही ऐसी है जिसमें अपने गौरव प्रतिष्ठा और स्तर को बनाए रखा है यही एक कारण है कि अभी भी युवाओं में इसका आकर्षण ना केवल बरकरार है बल्कि दिन और दिन बढ़ता ही जा रहा है राज्य लोक सेवा आयोग में सबसे प्रतिष्ठित उत्तर प्रदेश लोक सेवा आयोग ने पीसीएस परीक्षा 2019 और 2020 का कैलेंडर जारी कर दिया है यह पहली बार है कि उत्तर प्रदेश लोक सेवा आयोग ने अगले वर्ष का कलेंडर पहले ही जारी कर दिया है अब इससे सुनहरा मौका कोई और नहीं हो सकता आप का मूल मंत्र होना चाहिए अभी नहीं तो कभी नहीं जब तक एकदम करो या मरो की स्थिति नही आएगी तब तक सफलता आपसे दूर भागती रहेगी। UP PCS Preparation Full detail with Strategy in hindi

– मुख्य परीक्षा का क्या है प्रारूप

मुख्य परीक्षा में कुल 8 पेपर होते हैं जिनमें 6 पेपर अनिवार्य होते हैं तथा एक वैकल्पिक विषय के 2 पेपर होते हैं आप कोई भी वैकल्पिक विषय ऑप्शन चुन सकते हैं आवश्यक नहीं कि आपने ग्रेजुएशन में उस विषय को पढ़ा ही हो इसलिए आप ग्रेजुएशन से भिन्न विषय भी ले सकते हैं अनिवार्य विषय में सबसे पहला पेपर सामान्य हिंदी का होता है जो 150 अंको का होता है इसमें पहला प्रश्न दिए गए गद्यांश में रेखांकित वाक्यांशों की व्याख्या करता है

दूसरा प्रश्न संक्षेपण का होता है अर्थात दिए गए गद्यांश को लगभग एक तिहाई शब्दों में इस तरह से लिखना कि गद्यांश का मूल मंतव्य तो वही रहे परंतु शब्द चयन लेखक का स्वयं का हो इसके अतिरिक्त पत्र लेखन विलोम शब्द पर्यायवाची तत्सम तद्भव मुहावरे और लोकोक्ति तथा हिंदी भाषा के प्रयोग होने वाले अशुद्धियां आदि पूछे जाते हैं UP PCS Preparation Full detail with Strategy in hindi

दूसरा पेपर निबंध का होता है या भी 150 अंकों का होता है इसमें कुल 9 निबंध आते हैं जो तीन खंडों में बंटे होते हैं तथा प्रत्येक खंड से एक निबंध लिखना होता है साहित्य और संस्कृति सामाजिक क्षेत्र राजनीतिक क्षेत्र आर्थिक क्षेत्र विज्ञान और पर्यावरण कृषि राष्ट्रीय और अंतरराष्ट्रीय घटनाक्रम प्राकृतिक आपदा तथा योजनाओं में से प्रत्येक क्षेत्र से एक एक निबंध आता है प्रत्येक निबंध 50 अंक का होता है तथा 700 शब्दों में लिखना होता है शब्द सीमा का ध्यान रखना लाभदायक होता है निबंध सहज सुबोध और कसा हुआ होना चाहिए महापुरुषों के वाक्य यथोचित शेर कविता या श्लोक आदि का निबन्ध में उल्लेख आपके निबंध को और ज्यादा आकर्षक कर सकता है निबंध हिंदी अंग्रेजी उर्दू में से किसी एक भाषा में लिखा जा सकते हैं।

सामान्य अध्ययन के कुल 4 पेपर होते हैं एक पेपर 200 अंक का होता है जिनका विवरण इस प्रकार है ।

 

-सामान्य अध्ययन 1

 इस पेपर में भारत का इतिहास प्राचीन काल से लेकर  आधुनिक काल तक कला साहित्य वास्तुकला और भारतीय राष्ट्रीय आंदोलन स्वतंत्रता के पश्चात देश के अंदर एकीकरण और पुनर्गठन विश्व का इतिहास।

– भारत का समाज और संस्कृति की मुख्य विशेषताएं इसमें महिलाओं से जुड़े मुद्दे जनसंख्या गरीबी शहरीकरण उदारीकरण निजीकरण और वैश्वीकरण सांप्रदायिकता क्षेत्रवाद धर्मनिरपेक्षता से संबंधित प्रश्न पूछे जाते हैं ।

-भारत और विश्व का भूगोल इसके अंतर्गत जल मिट्टी वन भूकंप सुनामी ज्वालामुखी चक्रवात जल धाराओं पवन भारत का समुद्र संसाधन मानव प्रवास भारत के संबंध में सीमा विवाद आदि से संबंधित प्रश्न पूछे जाते हैं इसके साथ-साथ उत्तर प्रदेश का इतिहास कला संस्कृति वास्तुकला त्यौहार लोक नृत्य साहित्य पर्यटन मानव संसाधन जलवायु मिट्टियां वन वन्य जीवन खनिज और सिंचाई से समन्धित प्रश्न पूछे जाते हैं । UP PCS Preparation Full detail with Strategy in hindi

-सामान्य अध्ययन-2

इस पेपर में भारतीय संविधान इसकी विशेषताएं संघीय ढांचे केंद्र राज्य संबंध विधायिका कार्यपालिका न्यायपालिका जनप्रतिनिधित्व अधिनियम नीति आयोग सरकारी नीति जाते हैं इसके अंतर्गत एनजीओ एस एच जी ई गवर्नेंस सिविल सेवा अंतरराष्ट्रीय संस्थाओ घटनाएं से जुड़े प्रश्न भी पूछे जाएंगे।

-सामान्य अध्ययन-3

 इस पेपर में भारतीय अर्थव्यवस्था के अंतर्गत आर्थिक नियोजन नीति आयोग गरीबी बेरोजगारी बजट फसलों एमएसपी खाद्य सुरक्षा खाद्य प्रसंस्करण भूमि सुधार आधारभूत संरचना आदि से जुड़े प्रश्न पूछे जाएंगे इसके अलावा विज्ञान प्रौद्योगिकी के अंतर्गत सूचना संचार अंतरिक्ष और जैव प्रौद्योगिकी पर्यावरण सुरक्षा जैव विविधता प्रदूषण आपदा प्रबंधन भारत की आंतरिक सुरक्षा की चुनौती से संबंधित प्रश्न पूछे जाएंगे ।

-सामान्य अध्ययन 4

इस पेपर में नीतिशास्त्र अभिवृत्ति संवेगात्मक बुद्धि भारत और विश्व के महान नैतिक विचार को दार्शनिकों लोक प्रशासन में लोक सिविल सेवा मूल्य तथा नीतिशास्त्र शासन व्यवस्था से जुड़े प्रश्न पूछे जाएंगे सामान्य अध्ययन के इन चार पेपरों के विस्तृत सिलेबस और उसमें किस तरह के प्रश्न पूछे जाएंगे उन्हें आगे के अपने लेख में बताऊंगा ।

 

-वैकल्पिक विषय

आपको दिए गए कुल 34 वैकल्पिक विषयों में से एक विषय चुनना पड़ता है सबसे ज्यादा लिए जाने वाले विषय हैं समाज कार्य रक्षा अध्ययन लोक प्रशासन समाजशास्त्र इतिहास दर्शन शास्त्र मनोविज्ञान पीसीएस परीक्षा में विषयों का चयन बहुत महत्वपूर्ण है इसलिए बहुत सोच समझकर ही विषय का चयन किया जाना चाहिए विज्ञान विषय का चयन तो तभी करें जब आपकी इन में जबरदस्त पकड़ो हो मेरी व्यक्तिगत सलाह की विषय का चयन पसंदगी ना पसंदगी से ज्यादा इस आधार पर किया जाए कि उस विषय से चयन की संभावना कितनी है क्योंकि आपका चयनित होना आपके लिए बहुत जरूरी है प्रत्येक पेपर में दो खंड होते हैं प्रत्येक खंड में चार-चार प्रश्न होते हैं प्रत्येक खंड से कम से कम 2 प्रश्न करने होते हैं तथा कुल 5 प्रश्न करने होते हैं क्योंकि वैकल्पिक विषय के पेपर बहुत लंबे होते हैं इसलिए घर पर ही प्रश्न के उत्तर लिखने कि अभ्यास अवश्य है । UP PCS Preparation Full detail with Strategy in hindi

-व्यक्तिगत परीक्षण मौखिक परीक्षा इंटरव्यू

इंटरव्यू 100 अंकों का होता है तथा कुल सीटों की संख्या के तीन गुना अभ्यार्थी इंटरव्यू के लिए चयनित होते हैं इंटरव्यू में अभ्यर्थी की सामान्य जागरूकता बुद्धि चरित्र अभिव्यक्ति की क्षमता व्यक्तित्व और सेवा के लिए सामान्य उपयुक्तता को ध्यान में रखते हुए सामान्य अभिरुचि के प्रश्न पूछे जाते हैं इंटरव्यू के समय ही अभ्यर्थी से सभी पदों का वरीयता क्रम भरवा दिया जाता है अंतिम चयन मुख्य परीक्षा और इंटरव्यू दोनों के अंकों को जोड़कर किया जाता है अभ्यर्थी द्वारा भरे गए पदों के वरीयता क्रम के आधार पर अंतिम चयन किया जाता है प्रत्येक पद की कटऑफ अलग-अलग होती है प्रतीक्षा सूची का कोई प्रावधान नहीं है सामान्य वर्ग अन्य पिछड़ा वर्ग अनुसूचित जाति और जनजाति की कटऑफ भिन्न भिन्न जाती है महिलाओं के लिए आरक्षण की व्यवस्था है ।

-इन बातों का रखें विशेष ध्यान

सिविल सेवा परीक्षा की तैयारी से लेकर चयन एक लंबी और प्रक्रिया है लगन जुनून के दम पर ही जीता जा सकता है इस परीक्षा में आपसे किसी विषय विशेष का विशेषज्ञ होने की आशा नहीं की जाती बल्कि सभी विषय सामान्य ज्ञान की अपेक्षा की जाती है इसलिए इस परीक्षा के लिए अत्यंत तीक्ष्ण बुद्धि का होना आवश्यक शर्त नहीं है बल्कि एक सामान्य बुद्धि का और सामान्य पृष्ठभूमि का अभ्यार्थी भी इस परीक्षा को निकाल सकता है बस आवश्यकता है तो जुनून अपार धैर्य और सही रणनीति की कुछ खास बातें हैं इनका विशेष ध्यान रखना है UP PCS Preparation Full detail with Strategy in hindi

नकारात्मक प्रकृति के लोगों से दूर रहिए ऐसे लोग न केवल आपको हताश निराश करेंगे बल्कि  आपके आत्मविश्वास को भी डिगा देंगे ध्यान रखिए संघर्ष के दौर में आपको अकेला ही लड़ना होता है हा सफलता के बाद श्रेय लेने सब लोग आ जाते हैं इसलिए किसी की भी नेगेटिव कमेंट को लेकर परेशान मत होइए

बहुत सारी किताबों को इकट्ठा करने के चक्कर में मत पड़ गई बहुत सारे प्रतियोगी बढ़िया-बढ़िया किताबों को खरीद तो लेते हैं लेकिन पढ़ ही नहीं पाते और असफल हो जाते हैं ध्यान रखें 4 किताबों को पढ़ने से बेहतर है एक ही किताब को 4 बार पढ़ना अर्थात किताबों को पढ़ने के साथ-साथ उन्हें आत्मसात भी करें

सिविल सेवा परीक्षा की तैयारी में जितना महत्वपूर्ण  यह है कि आपको क्या पढ़ना है उतना ही महत्वपूर्ण यह है कि आपको क्या नहीं पढ़ना है और यह जानने का सबसे सरल तरीका है किसी भी अध्याय को पढ़ने के बाद उस अध्याय वाले प्रश्नों को हल कर जाइए इससे आपको यह अंदाजा हो जाएगा कि किस टॉपिक से कैसे और कितने प्रश्न होते हैं

मुख्य परीक्षा में विशेषकर निबंध में कुछ अच्छे अंक लाने के लिए आवश्यक है कि रोज लिखने का अभ्यास कीजिए इससे ना केवल आपकी स्पीड बढ़ेगी बल्कि भाषा शैली वाक्य विन्यास सुधरेगा एक बात का ध्यान अवश्य रखें कि जितना भी लिखिए कसा हुआ लिखिए सारगर्भित लिखिए अनावश्यक उत्तर को फैलाए मत उत्तर की गुणवत्ता को बनाए रखें। UP PCS Preparation Full detail with Strategy in hindi


Related Post :-

MPPSC प्रारंभिक और मुख्य परीक्षा पाठ्यक्रम

सिविल सेवा परीक्षा : सबसे पहले अपना माइंड सेट बदले

BPSC सामान्य अध्ययन की तैयारी कैसे करें ?

आईएएस की तैयारी हिंदी माध्यम से कैसे करें ?

निबंध लेखन का तरीका UPSC

Comments (0)